100 रुपये हुए टमाटर के दाम! क्यों एक महीने में दोगुने हुए आलू-प्याज समेत कई सब्जियों के दाम

नई दिल्ली. कोरोना के इस संकट में आम आदमी की परेशानियां रोजाना बढ़ती जा रही हैं. अब सब्जियों की महंगाई ने किचन का बजट बिगाड़ दिया है. रोजमर्रा में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली सब्जियां आलू, प्याज और टमाटर की कीमतों में जोरदार बढ़ोतरी देखी जा रही है. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, टमाटर की कीमत तो 100 रुपए प्रति किलो तक पंहुच गई है. उपभोक्ता मंत्रालय के मुताबिक सोमवार को कोलकाता में टमाटर का खुदरा भाव 100 रुपए प्रति किलो दर्ज किया गया है. सितंबर के दौरान कोलकाता में टमाटर की कीमतों में 40 रुपए प्रति किलो तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.




ALSO READ :   BJP सिर्फ कंगना का घर बचाना चाहती है, गरीबों के झुग्गियों को नहीं:राघव चड्ढा

अन्य शहरों की बात करें तो वहां पर भी टमाटर की कीमतें आसमान पर पहुंच चुकी है. उपभोक्ता मंत्रालय के मुताबिक सोमवार को दिल्ली में भाव 63 रुपए किलो, मुंबई और पटना में 65 रुपए प्रति किलो, लखनऊ में 70 रुपए किलो और गुरुग्राम, शिमला तथा लुधियाना में 60 रुपए प्रति किलो हो गया है.

सिर्फ टमाटर ही नहीं बल्कि आलू और प्याज की कीमतों में भी लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है. आलू की बात करें तो अधिकतर जगहों पर भाव 35-40 रुपए है और कुछ जगहों पर तो भाव 45 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गया है. उपभोक्ता मंत्रालय के मुताबिक सोमवार को दिल्ली में आलू का खुदरा भाव 37 रुपए प्रति किलो, गुरुग्राम में 35 रुपए, शिमला में 45 रुपए, लुधियाना में 40 रुपए, मुंबई में 44 रुपए, पटना में 36 रुपए और कोलकाता में 32 रुपए प्रति किलो दर्ज किया गया.




आलू और टमाटर की तरह प्याज का भी ऐसा ही हाल है, उपभोक्ता मंत्रालय के मुताबिक सोमवरा को दिल्ली में प्याज की कीमतें 41 रुपए प्रति किलो हो गई हैं, सरकार ने प्याज की बढ़ती हुई कीमतों को देखते हुए प्याज निर्यात पर प्रतिबंध भी लगा दिया है.

ALSO READ :   मुस्लिम होने पर कंगना के वकील पर उठाई उंगली, कपिल मिश्रा को मिला करारा जवाब

बरसात की वजह से मंडियों में सब्जियों की सप्लाई प्रभावित हो रही है जिस वजह से कीमतें लगातार बढ़ रही हैं, इसके अलावा पिछले कुछ दिनों से डीजल की कीमतों में एकतरफा तेजी देखने को मिली है जिससे सब्जियों को मंडियों तक पहुंचाने की लागत बढ़ गई है और इस बढ़ी हुई लागत का असर भी सब्जियों के भाव पर पड़ रहा है.



ALSO READ :   उध्दव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने पर शिव सैनिकों में ख़ुशी