Swachh Bharat Mission: दिल्ली में प्लास्टिक कचरे के बदले मिलेगा ब्रेक फास्ट, लंच और डिनर; खुला Garbage Cafe

नई दिल्ली: क्या आपने कभी सोचा है कि प्लास्टिक के कचरे के बदले आपको अच्छा खाना मिल सकता है. राजधानी दिल्ली (Delhi) की दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने नजफगढ़ जोन (Najafgarh) में एक स्वीट की दुकान के साथ मिलकर ऐसी ही अनूठी पहल की शुरुआत की है. SDMC की पहल पर द्वारका के नजफगढ़ जोन स्थित वर्धमान प्लस सिटी मॉल में डायमंड स्वीट्स ने गारबेज कैफे (Garbage cafe) शुरू किया है, जहां लोग प्लास्टिक कचरे (Plastic Waste) के बदले भोजन कर सकते हैं. इस कैफे में कचरे के बदले ब्रेक फास्ट, लंच, डिनर या मिठाई खा सकते हैं.




ALSO READ :   यूपी: वाहन से 31 जनवरी तक क्रैश गार्ड हटा लें, नहीं तो भरना पड़ेगा 5 हजार जुर्माना

स्वच्छ भारत अभियान के तहत शुरुआत
दरअसल, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (SDMC) ने स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Mission) के तहत नजफगढ़ जोन में यह मुहिम शुरू की है. इस मुहिम के तहत अब आप गारबेज कैफे (Garbage cafe) में 1 किलो कचरे के बदले या तो ब्रेक फास्ट कर सकते हैं या लंच या डिनर. अगर आपका मन यहां कुछ खाने का नहीं है तो आप यहां से मुफ्त में मिठाई ले जा सकते हैं. नजफगढ़ जोन के डिप्टी कमिश्नर राधा कृष्ण ने बताया कि लोग जो कचरा देकर जाते हैं, उस कचरे को डी कम्पोज (Decompose) किया जाता है. दुकानदार इस मुहिम में निशुल्क जुड़े हैं. लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया जा रहा है. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम लोगों से अपील कर रहा है कि जो घर से कचरा निकलता है उस कचरे का किसी तरह से निस्तारण हो.




कितने कचरे के बदले कितनी मिठाई?
डिप्टी कमिश्नर राधा कृष्ण ने कहा, कई और दुकानदारों से भी बात की जा रही है फिलहाल सबसे पहले डायमंड स्वीट्स के मालिक ने इस पहल में हमारा साथ दिया है. इस दुकान में इस मुहिम से जुड़ा एक स्लोगन भी लिखा गया है जिसमें लिखा है कि ‘Bring waste plastic from your house and get free meal’. डायमंड स्वीट्स की मालिक पूजा शर्मा के मुताबिक, दुकान सुबह से लेकर रात तक खुली रहेगी. जो लोग सुबह के समय कचरा लाएंगे उन्हें ब्रेक फास्ट या मिठाई मिलेगी, जो दिन में लाएंगे वो लंच या मिठाई के हकदार होंगे और जो रात में प्लास्टिक कचरा लाएंगे, वो डिनर या डिनर नहीं लेने पर मिठाई के हकदार होंगे. 1 किलो प्लास्टिक कचरे पर आधा किलो मिठाई और 5 किलो प्लास्टिक कचरे पर 1 किलो मिठाई देने की व्यवस्था की गई है.