सेना से कम किए जाएंगे 1 लाख सैनिक, सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने संसदीय समिति को दी जानकारी

चीफ ऑफ द डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने रक्षा मंत्रालय से जुड़ी संसदीय समिति जानकारी देते हुए कहा कि आने वाले तीन चार साल में एक लाख सैनिक कम किए जाएंगे। सीडीएस रावत ने कहा कि भारतीय सेना के स्वरूप में बदलाव की कोशिशों के तहत आने वाले तीन-चार साल में एक लाख सैनिक कम किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जब जनरल वी.पी. मलिक सेना प्रमुख थे तब उन्होंने 50 हजार सैनिक कम करने की सोची थी।




अब हमारा लक्ष्य अगले तीन से चार साल में करीब एक लाख सैनिक कम करने का है। रावत ने आगे कहा कि इससे जो पैसा बचेगा उसका इस्तेमाल तकनीक को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा। सरकार ने भी सेना को इस रकम के तकनीक में इस्तेमाल का आश्वासन दिया है।

ALSO READ :   जानिए कैसा है वो परिवार जहां बहू बनकर जा रही हैं ओवैसी की बेटी

उन्होंने कहा कि सेना की लड़ाकू टुकडियों के साथ सप्लाई और सपोर्ट में लगे जवानों की संख्या में कमी होगी। लड़ाकू जवानों पर फोकस किया जा रहा है। उन्हें आधुनिक तकनीक से लैस किया जाएगा क्योंकि सीमाओं की सुरक्षा का जिम्मा उन्हीं पर है। उन्हें अत्याधुनिक तकनीकें उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने आगे कहा कि सेना की एक लड़ाकू कंपनी में अभी 120 लोग होते हैं। यदि इस कंपनी को तकनीक से लैस कर दिया जाए तो वही काम 80 लोग कर सकते हैं जो 120 लोगों के द्वारा अभी किया जा रहा है।